UIDAI ने जारी किया नया नियम, गलत इस्तेमाल से बचने के लिए QR-कोड से होगा Aadhaar Verification, जानिए पूरी खबर

uidai-ne-jaari-kiya-naya-niyam-galat-istemal-se-bachne-ke-liye

UIDAI New Rules For Aadhaar Verification: UIDAI ने जारी किया नया नियम, गलत इस्तेमाल से बचने के लिए QR-कोड से होगा Aadhaar Verification, जानिए पूरी खबर। संस्थाओं को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण या किसी अन्य कानूनी एजेंसी द्वारा भविष्य में किसी भी ऑडिट के लिए नागरिकों से प्राप्त स्पष्ट सहमति का लॉग/रिकॉर्ड बनाए रखना आवश्यक है. इंडिया में जारी किया UIDAI ने नया नियम, अब क्यूआर कोड के जरिये होगा आधार वेरिफिकेशन। जानिये इसके पीछे का कारण क्यों निकाला गया यह नियम।

यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल रोकने के लिये UIDAI ने उठाया सख्त कदम

भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (UIDAI) ने यूजर्स के डाटा और आधार का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए सख्त कदम उठाया है. UIDAI ने ऑफलाइन सत्यापन करने वाली संस्थाओं के लिए नई गाइडलाइन जारी की है, जिसमें स्वच्छ संस्थाओं से स्वच्छ उपयोग के मुद्दों, बेहतर सुरक्षा तंत्र और स्वेच्छा से आधार का कानूनी उद्देश्यों के लिए उपयोग करते समय नागरिकों के विश्वास को और बढ़ाने को कहा है और क्यूआर कोड के माध्यम से आधार को सत्यापित करने के लिए निर्देश जारी किए हैं.

यूजर्स के डाटा का गलत इस्तेमाल रोकने के लिये UIDAI ने उठाया सख्त कदम

अगर आधार कार्ड का गलत इस्तेमाल हो रहा है इसकी सुचना नागरिक को 72 घंटो में देनी होगी

इसके साथ ही नागरिक की आधार संख्या एकत्र, उपयोग या संग्रहीत नहीं करने के निर्देश दिए हैं. जबकि, आधार के गलत इस्तेमाल की जानकारी 72 घंटे में प्राधिकरण और संबंंधित आधार धारक को देनी होगी. इसमें कई सारे नए रूल्स और और नए तरीके के कारण इसे वेरिफिकेशन के लिए निर्देश दिए गए है।

UIDAI की नयी गाइड लाइन के अनुसार आधार की सुरक्षा और डाटा लीक न होने के लिए यहाँ बड़ा कदम उठाया जा रहा है

UIDAI ने गाइडलाइन में आधार संख्या धारक की स्पष्ट सहमति के बाद संस्थाओं को आधार का सत्यापन करने के लिए सूचित किया गया है. इन संस्थाओं को नागरिकों के प्रति विनम्र होना चाहिए और उन्हें ऑफलाइन सत्यापन करते समय अपने आधार की सुरक्षा एवं गोपनीयता के बारे में आश्वस्त करना चाहिए. संस्थाओं को भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण या किसी अन्य कानूनी एजेंसी द्वारा भविष्य में किसी भी ऑडिट के लिए नागरिकों से प्राप्त स्पष्ट सहमति का लॉग/रिकॉर्ड बनाए रखना आवश्यक है.

UIDAI की नयी गाइड लाइन के अनुसार आधार की सुरक्षा और डाटा लीक न होने के लिए यहाँ बड़ा कदम उठाया जा रहा है

UIDAI ने ऑफलाइन सत्यापन करने वाली संस्थाओं को आधार का गलत इस्तेमाल रोकने के लिए QR-कोड के माध्यम से आधार कार्ड का सत्यापन करने का आदेश दिया है

UIDAI ने ऑफलाइन सत्यापन करने वाली संस्थाओं को पहचान के प्रमाण के रूप में आधार को भौतिक या इलेक्ट्रॉनिक रूप में स्वीकार करने के बजाय आधार के सभी चार स्वरूपों (आधार पत्र, ई-आधार, एम-आधार और आधार पीवीसी कार्ड) पर मौजूद QR-कोड के माध्यम से आधार को सत्यापित करने के लिए कहा है. जिससे आधार का गलत इस्तेमाल न किया जा सके.

Source: graminmedia