कंप्यूटर: आज की आवश्यकता पर निबंध | Essay on Computer : Today’s Need in Hindi!

कंप्यूटर: आज की आवश्यकता पर निबंध | Computer Aaj ki Avashyakta Hindi Essay | कंप्यूटर: आज की आवश्यकता पर निबंध | Computer Aaj ki Avashyakta Hindi Essay | कंप्यूटर : आज के युग की ज़रूरत पर निबंध | Computer Aaj ki Jaroorat Par Nibandh | कंप्यूटर : आज की ज़रूरत पर निबंध

कंप्यूटर: आज की आवश्यकता पर निबंध | Computer Aaj ki Avashyakta Hindi Essay

भूमिका

आज के युग को विज्ञान का युग या वैज्ञानिक युग की संज्ञा दी जाए तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी, क्योंकि आज विश्व विज्ञान के दृढ़ स्तंभ पर ही टिका है । विज्ञान ने मानव को अनेक प्रकार की शक्तियाँ, सुख-सुविधाएँ तथा क्रांतिकारी उपकरण दिए हैं, जिनके कारण काल और स्थान की दूरियाँ मिट गई हैं। विज्ञान के अनेक विस्मयकारी तथा महत्त्वपूर्ण उपकरणों में कंप्यूटर का विशेष स्थान है।

मानव मस्तिष्क से भी तेज

‘कंप्यूटर की तुलना यदि मानव मस्तिष्क से की जाए तो गलत नहीं होगा। इसकी उपयोगिता को देखते हुए आज देश के लगभग हर विद्यालय में इसे पाठ्यक्रम में शामिल किया गया है। यह एक ऐसी मशीन है जो कठिन-से-कठिन जोड़, घटा, गुणा, भाग आदि को अत्यंत शीघ्रता से तथा शत-प्रतिशत शुद्धता से करने में समर्थ है तथा स्थान-स्थान पर इसके प्रशिक्षण की सुविधाएँ भी उपलब्ध हैं। अनेक महाविद्यालयों और विश्वविद्यालयों में भी कंप्यूटर के उच्च शिक्षण-प्रशिक्षण की सुविधाएँ हैं। यह प्रशिक्षण दो प्रकार का होता – हार्डवेयर’ और ‘सॉफ्टवेयर’ । कंप्यूटर की विभिन्न भाषाएँ हैं–लोट्स, कोबोल, पासकल, बेसिक आदि। कंप्यूटर की विशेषताओं के कारण आज यह हमारे जीवन का आवश्यक अंग बन गया है।

अनेक विस्मयकारी सुविधाएँ

आजकल कंप्यूटरों का प्रयोग बैंकों, रेलवे स्टेशनों, विद्यालयों तथा कार्यालयों आदि में बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। रेलवे स्टेशनों, हवाई अड्डों पर आरक्षण के लिए कंप्यूटरों का प्रयोग किया जाता है। चिकित्सा के क्षेत्र में कंप्यूटर के प्रयोग से रोगी की चिकित्सा करने में बहुत मदद मिलती है। बड़े बड़े कारखानों में मशीनों को चलाने में कंप्यूटर अत्यंत उपयोगी है। बिजली का बिल बनाने, टेलीफ़ोन का बिल बनाने, मौसम की जानकारी एकत्रित करने, समाचार पत्रों की जानकारी एकत्रित करने, भारी तोपों, वायुधान, युद्धपोतों, पनडुब्बियों, समुद्री जहाजों आदि के संचालन में भी कंप्यूटर की भूमिका अत्यंत महत्त्वपूर्ण है।

इंटरनेट

आजकल कंप्यूटर पर ‘इंटरनेट’ सुविधाएँ भी उपलब्ध हैं, जिनके द्वारा विश्व के किसी भी कोने में कुछ ही क्षणों में समाचारों तथा सूचनाओं का आदान-प्रदान संभव हो गया है। आजकल के युद्ध भी कंप्यूटर के सहारे जीते जाते हैं।

शिक्षा के क्षेत्र में भी कंप्यूटर की भूमिका बहुत महत्त्वपूर्ण है। अनेक विषयों की पढ़ाई कंप्यूटर के द्वारा की जा सकती है। इस प्रकार कंप्यूटर तो ज्ञान-विज्ञान का ‘ एसाइक्लोपीडिया‘ बन गया है।

शिक्षा के क्षेत्र की तरह विज्ञापन के क्षेत्र में भी कंप्यूटर ने अपनी अद्भुत प्रतिभा का परिचय दिया है। टी०वी० पर दिखाए जाने वाले अनेक विज्ञापन कंप्यूटर द्वारा ही विकसित किए जाते हैं। पुस्तकों की छपाई के काम में भी कंप्यूटर की सहायता ली जाती है। ‘डी०टी०पी०’ के द्वारा कंप्यूटर द्वारा पुस्तकों की छपाई का काम न केवल सरल, अपितु सुंदर भी बन गया है। पुस्तकों में छापे जाने वाले आरेख, चित्र तथा तालिकाओं को कंप्यूटर द्वारा अत्यंत सुगमता से छापा जा सकता है। किसी भी कंप्यूटर को पाँच भागों में बाँटा जा सकता है-मैमोरी, कंट्रोल, अंकगणित का अंग, इनपुट यंत्र और आउटपुट यंत्र ।

कंप्यूटर का प्रयोग बढ़ता ही जा रहा है। अनेक प्रकार की भविष्यवाणियों के लिए भी कंप्यूटर का सहारा लिया जा रहा है। ‘जन्मपत्रियाँ’ भी कंप्यूटर द्वारा बनाई जा रही हैं।

इसका ज्ञान आज की आवश्यकता

आज का कंप्यूटर मानव के लिए कल्पतरु और कामधेनु के समान बन गया है, क्योंकि मानव मस्तिष्क का काम कंप्यूटर करने लगा है। लगभग हर क्षेत्र में इसका उपयोग किया जा रहा है। आप अपना व्यवसाय करें या नौकरी आपको इसका ज्ञान होना आवश्यक है अन्यथा आप अपने व्यवसाय में दूसरों से पीछे रह जाएंगे और नौकरी पाने वालों को नौकरी मिलने में समस्या होगी, इसलिए इसका जान आज के समय में अति आवश्यक है। अनेक क्षेत्रों में मनुष्य के मस्तिष्क को मात देने वाले कंप्यूटर का भविष्य अत्यंत उज्जवलहै।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *