दहेज प्रथा, बाल विवाह व नशाखोरी के खिलाफ मुस्लिम मल्लाह समाज ने की पंचयत

राष्ट्रीय मुस्लिम मल्लाह वेलफेयर सोसाइटी की ओर से गांव रामडा में एक पंचायत आयोजित की गई। जिसमें समाज में बढ़ती दहेज प्रथा, बाल विवाह, नशाखोरी व अशिक्षा के खिलाफ समाज के लोगों को जागरूक कर कुरितियां को दूर करने की अपील की गई। रविवार को कैराना क्षेत्र के गांव रामडा के मदरसा अहमद उल उलूम में राष्ट्रीय मुस्लिम मल्लाह वेलफेयर सोसायटी की ओर से एक पंचायत आयोजित की गई। पंचायत में उत्तर प्रदेश, हरियाणा व दिल्ली के मुस्लिम मल्लाह समाज के लोगों ने भाग लिया । पंचायत की राष्ट्रीय मुस्लिम मल्लाह वेलफेयर सोसाइटी के निवर्तमा न उपाध्यक्ष मुकीद ठेकेदार ने अध्यक्षता करते हुए कहा कि समाज में दहेज प्रथा, बाल विवाह, नशाखोरी व अशिक्षा के खिलाफ जागरूकता लानी होगी । ब्याह शादियों में जरूरत के सामान के अलावा अधिक दहेज न दिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने समाज के युवाओं को नशाखोरी से दूर रहने की अपील की । कमेटी के सचिव शकील ने कहा कि घरेलू हिंसा पर रोक लगनी चाहिए। अगर समाज में किसी तरह का कोई विवाद होता हैं तो थाने पुलिस से पहले समाज के जिम्मेदार लो गों को बैठकर दोनों पक्षों के बीच समझौता कराना चाहिए। वहीं उन्होंने युवाओं को उच्च शिक्षा हासिल कर समाज के दबे कुचले लोगों को शिक्षित करने तथा पुलिस, आर्मी डॉक्टर, इंजीनियर बनने का आह्वान किया । मुस्तकीम मल्लाह ने बताया कि राष्ट्रीय मुस्लिम मल्लाह वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष दिल्ली निवासी अलमुद्दीन की पिछले दिनों बीमारी के कारण मौत हो गई थी । पंचायत में नई कमेटी बनाने के लिए जिम्मेदार लोगों की सूची बनाई गई हैं। इस दौरान मौलाना खालिद, हाफिज इस्लाम, शब्बीर प्रधान, जाहिद हसन प्रधान, मास्टर शकील, हाजी जहीर, शमशेर, दिलशाद प्रधान, जमील, तासीम प्रधान व मुस्तकीम मल्ला सहित आदि समाज के जिम्मेदार लोग मौजूद रहें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *